Friday, August 17, 2018

मोटापा काम करने के उपाय

मोटापा काम करने के उपाय


आधुनिकता की दौड़ में समय का अभाव, बढ़ती महँगाई में एक व्यक्ति की नोकरी से घर का पालन पोषण न हो पाना एक आम बात हो गयी है परन्तु ये आम बात एक ऐसे रोग को निमंत्रण देता है जो स्वयं रोग न होकर भी अनेको रोगों को आमंत्रित करता है, इसे मोटापा कहते है।
मोटापा वैसे तो कोई रोग नही है, परंतु जब ये आवश्यकता से अधिक बढ़ जाता है तो इसके कारण कई सारे रोग लग जाते है जैसे ("हाई ब्लड प्रेशर, मधुमेह, थाइरोइड, हार्ट ब्लॉकेज, अपच, शारीरिक ऊर्जा की कमी") आदि रोग लग जाते है।


मोटापा काम करने के उपाय


जब शरीर मे खाल म् कसावट काम हो जाये या ये ढीली पड़ने लगे तो समझ जाइये की या तो मोटापा बढ़ गया है या आप बूढ़े हो रहे हैं। शरीर की चमड़ी के नीचे जब वसा जमने लगे और शरीर स्थूल होने लगे तो यह "मोटापा" कहलाता है।
मोटापा किसी भी रूप में अच्छा नही मन जा सकता, क्योंकि ये रोगों का जनक होने के साथ व्यक्ति की क्रिया शीलता काम कर देता हैं। अधिक चिकनाई युक्त भोजन, जंक फूड, मिठाईयां, चावल, आलू, मैदा आदि से मोटापा बढ़ता है, शारीरिक व्यायाम की कमी, शरीर मे अक्रियाशीलता के बढ़ने से भी यह बढ़ता है।

लक्षण:--
*  शरीर मे सुस्ती बढ़ना।
*  गहरी साँस लेना या साँस लेने में तकलीफ होना।
*  थोड़ी मेहनत करने पर ही थक जाना।
*  उठने बैठने में तकलीफ होना।
*  मन सदैव उदास रहता है।
*  कार्यक्षमता में कमी आ जाती है।

योगिक चिकित्सा:--
  वजन कम करने के लिए बहुत से योगासन है जिनकी सहायता से वजन आसानी से घटाया जा सकता है। जैसे:-
पवनमुक्तासन, चक्किचालन, उत्तानपादआसान, सर्वांगासन, मत्स्यासन, हलासन, पश्चिमोत्तानासन, भुजंगासन, अर्धशलभासन, अर्धमत्स्येन्द्रासन, कोणासन, ऐसे कई आसान है जो वजन कम करने में सहायक हैं।
प्राणायाम में नाड़ी शोधन, भ्रामरी, सूर्यभेदन, भस्त्रिका बहुत उपयोगी होंगे, साथ मे तड़ागी मुद्रा, महामुद्रा और उड्डीयानबन्ध भी लाभकारी होता है।
जलनेति, वस्त्रधोती, कुंजलक्रिया, नौलि, कपालभाति, अग्निसार, बस्ति, शंखप्रक्षालन।

आहार:--
*   हरी पत्तेदार सब्जियां, फल, सलाद।
*   बिना तेल मसले का भोजन।
*   भोजन का समय निश्चित रखें।
*   जंक फूड, पिज़्जा, बर्गर को न कहें।
*   चीनी से बनी मिठाईया व आइसक्रीम से बचें।
*   मख्खन, क्रीम, पेस्ट्री, केक न खाएं।

अन्य जरूरी बातें:--
*   सुबह खाली पेट गर्म पानी मे निम्बू व शहद मिला कर     पिये।
*   रात में सोते समय त्रिफला चूर्ण का सेवन कर के सोये।
*   आँवला भी शरीर का वजन संतुलित करता है।
*   भोजन में हरीमिर्च को शामिल करें।
*   मेथी के दानों का एक चम्मच चूर्ण नियमित रूप से सेवन करें।
*   अपनी बार बार खाते रहने की आदत को बदले।
*   सबसे जरूरी है सुबह शाम या तो दौड़ लगाया जाए या तेज गति से चला जाये।

विशेष आग्रह:--
   इस जानकारी को देने में सारी सावधानी का खयाल रखा गया है परंतु फिर भी यह पोस्ट आप के ज्ञान को बढ़ाने मात्र के लिए लिखी गयी है, आप से निवेदन है कि किसी भी प्रयोग को करने से पहले किसी कुशल डॉक्टर से सलाह अवश्य ले लें।
     धन्यवाद।

2 comments:

  1. Hum me app ki website ko access kiya
    Meri website name is www.dccbidhuna.com

    ReplyDelete